जयपुर में छापे 10 करोड़ के नकली नोट…सालभर में प्रदेश में खपाए, झुंझुनूं में हुई कार्रवाई के बाद खुलासा

Fake note in Rajasthan : झुंझुनूं। राजधानी जयपुर में 10 करोड़ रुपए के नकली नोट छापकर झुंझुनूं सहित प्रदेशभर में खपाने का मामला सामने आया है। झुंझुनूं के चिड़ावा में शनिवार को हुई डीएसटी और चिड़ावा पुलिस की संयुक्त कार्यवाही के बाद यह चौंकाने वाला मामला सामने आया है। पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि उसके गिरोह के लोगों ने 10 करोड़ के नकली नोट छापकर प्रदेश में खपाए है। फिलहाल, पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है और मास्टर मांइन की तलाश की जा रही है, जो जोधपुर का रहने वाला है। हालांकि, माना जा रहा है कि संभवतया देश में यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है।

पूछताछ में अमित कुमार ने बताया कि लंबे समय से वह अपने गिरोह के लोगों के साथ जयपुर में बैठकर नकली नोट छाप रहा था। 500 के अलावा 200 और 100 रूपए के नकली नोट भी छापे गए थे। जिन्हें प्रदेशभर में खपाया गया और अब तक 10 करोड़ के नकली नोट चला चुका है। पूछताछ में सामने आया कि है कि जयपुर, जोधपुर, बीकानेर और झुंझुनूं में सर्वाधिक नकली नोट खपाए गए। इस खुलासे के बाद अब झुंझुनूं की जिला स्पेशल टीम लगातार मामले की जांच में जुटी हुई है।

बता दें कि झुंझुनूं डीएसटी और पुलिस थाना चिड़ावा ने शनिवार को संयुक्त कार्यवाही करते हुए नकली नोट चलाते एक बदमाश को पकड़ा है। उसके पास से 500-500 रुपए के 22 नकली नोट जप्त किए गए थे। अमित कुमार पुत्र हवासिंह जाट पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और पिलानी के पास खुडानिया गांव का रहने वाला है। वह जयपुर में बैठकर नकली नोट छापता था।

जयपुर में मिले 10 लाख के नकली नोट

आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने जयपुर से गिरोह के कब्जे से करीब दस लाख रुपए के नकली नोट बरामद किए हैं। साथ ही पुलिस ने दो अन्य को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। पूछताछ में सामने आया कि अमित अपने गिरोह की मदद से सालभर में 10 करोड़ से ज्यादा के नकली नोट छापकर पूरे प्रदेश में खपा चुका है। इतना ही नहीं, आरोपी अकेले झुंझुनूं जिले में ही 10 दिन पांच लाख रुपए के नकली नोट खपा चुका है।

ऐसे हुआ नकली नोट बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़

पुलिस के मुताबिक आरोपी अमित कुमार शनिवार को चिड़ावा में पिलानी चौराहे पर नकली नोट चला रहा था। तभी दुकानदार की सूचना पर झुंझुनूं डीएसटी और चीड़ावा थाना पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी को 500-500 के 22 नोटों के साथ गिरफ्तार किया था। दो सरगना भी पकड़ में आए और जयपुर में दबिश देकर करीब 10 लाख रुपए के नकली नोट व नोट छापने वाली मशीन पकड़ी है। इसका मास्टर माइंड जोधपुर निवासी युवक है, जो अभी पुलिस गिरफ्त से दूर है।

युवाओं को ऐसे अपने जाल में फंसाते थे आरोपी

पूछताछ में आरोपी ने बताया कि 25 हजार रुपए में 1 लाख रुपए के नकली नोट देकर युवाओं को लालच दिया जाता था। इन नोटों को जयपुर से लाकर शराब ठेकों, पेट्रोल पंप व दुकानों पर सामान खरीदने के बहाने खपाए जाते थे। जल्द मालामाल होने के लालच में नशे की प्रवृत्ति वाले व बदमाश किस्म के युवा इनके चंगुल में आ जाते हैं।

Leave a Comment

error: Content Copy is protected !!
Belly Fat कम करने के लिए सुबह नाश्ते में खाई जा सकती हैं ये चीजे विश्व रक्तदाता दिवस 2023 महत्व शायरी (वर्ल्ड ब्लड डोनर डे) | World blood donor day theme, quotes in hindi CSK won the title for the 5th time in the IPL 2023 final Tata Tiago EV Review: किफायती इलेक्ट्रिक कार मचाएगी तहलका!