Sea Salt Gargling Treat Root Canal : मोतियों जैसे चमकदार दांत पाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

Sea Salt Gargling Treat : हर किसी की ख्वाहिश होती है कि उनके दांत मोतियों जैसे सफेद और चमकदार हों। अनार के दानों की तरह गुथे हुए सफेद दांत न सिर्फ आपकी मुस्कान को आकर्षक बनाते हैं, बल्कि देखने में भी खूबसूरत लगते हैं। ऐसे दांतों को पाने के लिए नियमित रूप से दांतों की सफाई, फ्लॉसिंग और साल में एक बार डेंटिस्ट से चेकअप कराना बेहद जरूरी है। इन बातों का ख्याल रखकर आप दांतों से जुड़ी कई समस्याओं को दूर रख सकते हैं।

समुद्री नमक : दांतों की सफाई का एक अहम हिस्सा
क्या आप जानते हैं कि दांतों को हेल्दी रखने में नमक का भी अहम योगदान होता है? लेकिन यहां बात आम नमक की नहीं, बल्कि खास समुद्री नमक की हो रही है। सोशल मीडिया पर एक दावा किया गया है कि अगर समुद्री नमक का इस्तेमाल पानी में डालकर गरारे करने के लिए किया जाए, तो न सिर्फ ओरल हेल्थ दुरुस्त रहती है, बल्कि खतरनाक रूट कैनाल की परेशानी से भी बचा जा सकता है।

एक्सपर्ट्स की राय
कंटेंट क्रिएटर इयान क्लार्क के अनुसार
दांत को इंफेक्शन से बचाने का बेहतरीन समाधान है समुद्री नमक। हर दिन समुद्री नमक का सेवन रूट कैनाल से बचने में मदद करता है। दांत का इलाज करने की जरूरत आमतौर पर तब पड़ती है जब दांत का गूदा संक्रमित हो जाता है या उसमें सूजन हो जाती है। क्लार्क का मानना है कि समुद्री नमक का नियमित उपयोग दांतों की इन समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकता है।

डॉ. की राय
डॉ. ने बताया कि समुद्री नमक से गरारे करने से दांत के संक्रमण को जादुई तरीके से खत्म नहीं किया जा सकता। संक्रमित दांत का सही इलाज करना जरूरी होता है। समुद्री नमक केवल मुंह की छोटी-मोटी परेशानियों से राहत दिला सकता है, लेकिन यह डेंटल समस्याओं का समाधान नहीं है।

कोलकाता के डेंटल इम्प्लांटोलॉजिस्ट, कॉस्मेटिक डेंटिस्ट और मैक्सिलोफेशियल सर्जन डॉ. ने बताया कि रूट कैनाल की परेशानी में दांत में तेज दर्द होता है, दांत में लंबे समय तक गर्म या ठंडी चीजों के प्रति संवेदनशीलता रहती है, दांतों के रंग में बदलाव होता है और मसूड़ों में सूजन आ जाती है। यदि आपको रूट कैनाल की आवश्यकता महसूस होती है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। समुद्री नमक से गरारे करने से केवल मामूली राहत मिल सकती है।

मणिपाल कॉलेज ऑफ डेंटल साइंसेज, बैंगलोर में कंजर्वेटिव डेंटिस्ट्री और एंडोडोंटिक्स की प्रोफेसर डॉ.  के अनुसार, समुद्री नमक में फ्लोराइड की मात्रा होती है, जो दांतों को स्वस्थ रखने में मदद करती है। समुद्री नमक का घोल रोगाणुरोधी थेरेपी के रूप में काम करता है और इसे कैविटी को रोकने के लिए माउथवॉश के रूप में उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, समुद्री नमक के दांतों के लिए फायदों पर अभी और रिसर्च की आवश्यकता है।

दैनिक समुद्री नमक का सेवन आपकी ओरल हेल्थ को दुरुस्त करने में सहायक हो सकता है और मुंह की छोटी-मोटी परेशानियों से राहत दिला सकता है। लेकिन यह डेंटल समस्याओं का इलाज नहीं है। यदि आपको दांतों से जुड़ी गंभीर समस्याएं हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करना जरूरी है। समुद्री नमक से गरारे करने से मुंह की pH बैलेंस को नियंत्रित रखने में मदद मिल सकती है, जिससे मसूड़े स्वस्थ रहते हैं। लेकिन यह किसी भी तरह से रूट कैनाल या अन्य गंभीर दंत समस्याओं का समाधान नहीं है।

Leave a Comment

error: Content Copy is protected !!
Belly Fat कम करने के लिए सुबह नाश्ते में खाई जा सकती हैं ये चीजे विश्व रक्तदाता दिवस 2023 महत्व शायरी (वर्ल्ड ब्लड डोनर डे) | World blood donor day theme, quotes in hindi CSK won the title for the 5th time in the IPL 2023 final Tata Tiago EV Review: किफायती इलेक्ट्रिक कार मचाएगी तहलका!