दो साल बाद आयोजित होगा सुप्रसिद्ध बेणेश्वर धाम मेला, जिला कलक्टर ने कहा- श्रद्धालुओं की सुरक्षा रहेगी सर्वोच्च प्राथमिकता, बेणेश्वर मेले की तैयारियों को लेकर बैठक आयोजित

डूंगरपुर/वागड़ के सुप्रसिद्ध बेणेश्वर धाम मेले की तैयारियों को लेकर जिला कलक्टर लक्ष्मी नारायण मंत्री की अध्यक्षता में गुरूवार को उपखण्ड कार्यालय साबला में बैठक आयोजित हुई। बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक राशि डोगरा, अतिरिक्त जिला कलक्टर हेमेन्द्र नागर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीपेन्द्र सिंह राठौड़, प्रधान ललिता मीणा नगर परिषद डूंगरपुर आयुक्त दुर्गेश रावल, मंदिर प्रबंधन के सदस्य व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।
 
विभिन्न विभागीय अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए जिला कलक्टर लक्ष्मी नारायण मंत्री ने कहा कि मेले में श्रद्वालुओं की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए। उल्लेखनीय है कि साबला में 1 से 11 फरवरी तक प्रसिद्व बेणेश्वर मेला भरेगा और माघ पूर्णिमा को मुख्य मेला भरेगा, जिसमें लाखों की संख्या में श्रद्वालु जुटेंगे। कोरोना की वजह से विगत दो वर्षों में बेणेश्वर मेला नहीं भर पाया था। ऐसे मंे इस बार मेले मंे श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने की संभावना है और इसी बात को ध्यान में रखते हुए जिला कलक्टर ने मेले की तैयारियां व अन्य व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
 
30 तक हो सड़कों के पेचवर्क का कार्य पूराः-
जिला कलक्टर ने सार्वजनिक निर्माण विभाग को 30 जनवरी तक पेचवर्क व सड़क मरम्मत मार्ग के दोनों और झाडि़यों की कटिंग, चेतावनी बोर्ड संकेतक लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने श्रद्वालुओं के आवागमन के लिये रोडवेज बसों की संख्या, बढाने, मंदिर में दर्शन व्यवस्था सहज और सुलभ, बैरिकेडिंग, पेयजल सहित अन्य बिन्दूओं को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड की वजह से दो साल बाद मेला भर रहा है।
 
ऐसे में श्रद्वालुओं की संख्या बढ़ने की संभावना है। ऐसे में पार्किंग के लिये पर्याप्त स्थान चिन्हित करने और पार्किंग की दरें अनुकूल होनी चाहिए। उन्होंने मेले के मद्देनजर अस्थाई पुलिस थाना, मेले में लाउड स्पीकर का उपयोग पुलिस, प्रशासन के द्वारा कंट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा। दुकानों और ठेला गाडियों या अन्य किसी रूप में लाउड स्पीकर के प्रयोग की अनुमति नहीं होगी।
 
सादा वर्दी में तैनात होंगे पुलिसकर्मी, ड्रोन से रखेंगे निगरानीः-
बैठक में जिला कलक्टर लक्ष्मी नारायण मंत्री ने पुलिस विभाग को गश्त के लिये मोबाइल यूनिट लगाने, आपराधिक तत्वों पर नजर रखने के लिये दस वॉच टावर, 40- 50 स्थानों पर सीसीटीवी कैमरा लगाने के निर्देश दिये है। उन्होंने मेले में चौन स्नेचिंग रोकने के लिये सादा वर्दी में पुलिसकर्मी तैनात रखने व अन्य आपराधिक तत्वों पर निगरानी के ड्रोन की व्यवस्था रखने के निर्देश दिये है। पंचायत समिति साबला द्वारा सहायता एवं पूछताछ केन्द्र स्थापित करने के साथ ही एनसीसी, स्काउट और गाइड का मेले में साफ-सफाई सहित अन्य व्यवस्था में सहयोग लेने के निर्देश दिये है।
 
मेले में दिखेगी राज्य सरकार की योजनाओं की झलकः-
उन्होंने महिला स्वयं सहायता समूह की महिलाओं की और से स्टॉल्स लगवाने के निर्देश दिये है। साथ ही उन्होंने सभी विभागों की फ्लैगशिंप योजनाओं की प्रदर्शनी लगवाने और राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में आमजन को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करने और योजनाओं का लाभ दिलवाने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने मेले के दौरान होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रमों में स्थानीय प्रतिभागियों को अवसर प्रदान करने के निर्देश प्रदान किये है। उन्होंने कहा कि इसमें स्थानीय प्रतिभाओं को अपना टेलेंट सामने लाने का अवसर मिलेगा।
 
धारदार हथियारों की ब्रिकी नहीं होगीः-
दुकानों का आवंटन तहसीलदार, विकास अधिकारी व पुलिस विभाग के द्वारा किया जाएगा। उन्होंने श्रद्वालुओं के आवागमन के लिये कम से कम 12 फीट का रास्ता रखने के निर्देश दिये है। उन्होंने मेले में धारदार हथियारों आदि की बिक्री नहीं हो उसके लिये आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किये है।
 
बैठक में जिला कलक्टर लक्ष्मी नारायण मंत्री नेघाटों पर गोताखारों की तैनाती करने और स्थानीय गोताखोरों का भी सहयोग लेने के निर्देश दिए। मेले के दौरान मिस्टर वागड़ व मिसेज वागड़ प्रतियोगिता का आयोजन होगा। बैठक सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण मौजूद रहे।
 
WhatsApp GroupJoin Now
Telegram GroupJoin Now

Leave a Comment

error: Content Copy is protected !!
Belly Fat कम करने के लिए सुबह नाश्ते में खाई जा सकती हैं ये चीजे विश्व रक्तदाता दिवस 2023 महत्व शायरी (वर्ल्ड ब्लड डोनर डे) | World blood donor day theme, quotes in hindi CSK won the title for the 5th time in the IPL 2023 final Tata Tiago EV Review: किफायती इलेक्ट्रिक कार मचाएगी तहलका!